लोक सेवाओं के प्रदाय में कोताही नहीं बरतें कार्यालय प्रमुख - कलेक्टर

समय-सीमा बैठक में दिए निर्देश


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) कलेक्टर कुमार पुरूषोत्तम ने जिले के समस्त विभागों के कार्यालय प्रमुखों को निर्देशित किया है कि वे लोक सेवाओं के प्रदाय में कोताही नहीं बरतें। खाद्यान्न  वितरण, खाद वितरण और हितग्राही मूलक जैसी योजनाओं का सही रूप से क्रियान्वयन अपनी प्राथमिकता में रखें। उन्होंने यह निर्देश समय-सीमा में पत्रों के निराकरण संबंधित आयोजित समय-सीमा बैठक में दिए। उन्होंने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा के दौरान जिपं सीईओ को निर्देशित किया कि स्वच्छता परिसर के निर्माण कार्य ठीक-ठाक रहें। घटिया और गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य नही हो। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अपने निर्माण कार्यो की जांच करें और बेहतर गुणवत्तायुक्त निर्माण कार्य होना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि ग्रामीण अंचलों में नागरिकों के कार्यो और उनकी समस्याओं के शीघ्र एवं समुचित निराकरण के लिए रोजगार सहायक एवं पंचायत सचिव माह के प्रत्येक सोमवार एवं गुरूवार को अपने-अपने पंचायत मुख्यालय में नियत स्थान पर अनिवार्य रूप से प्रात: 10:30 से शाम 5:30 बजे तक बैठें और दायित्वों का निर्वहन करें। इस उद्देश्य से उन्होंने जिले के समस्त एसडीएम तहसीलदारों को उनके क्षेत्रांतर्गत पंचायतों की निगरानी रखने के निर्देश भी दिए।
बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर श्री पुरूषोत्तम द्वारा सीएम हेल्पलाईन के लंबित आवेदनों एवं विभागवार रैंकिंग की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान उन्होंने विभागवार रैंकिंग में सम्मानजनक रैंकिंग में पिछड़े और कम उपलब्धि के मद्देनजर असंतोष व्यक्त किया और संबंधित कार्यालय प्रमुखों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंंने सीएम हेल्पलाईन में लंबित आवेदनों के निराकरण में ढिलाई बरतने के कारण सीएमओ गुना का वेतन रोकने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि मुख्य मंत्री हेल्पलाईन के लंबित आवेदनों का संतुष्टिपूर्णं निराकरण कार्यालय प्रमुख सुनिश्चित करें तथा इस हेतु कम से कम एक घंटे का समय प्रतिदिन अवश्य दें। आवेदक से चर्चा कर उसकी संतुष्टि उपरांत शिकायतों-समस्याओं का समाधान सुनिश्चित करें। इस अवसर पर जिपं सीईओ निलेश परीख, एडीएम विवेक रघुवंशी सहित विभिन्न विभागों के कार्यालय प्रमुख मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments