कोरोना काल में बंद मध्यान्ह भोजन की जगह स्कूली बच्चों को सूखा राशन वितरित किया - पंचायत मंत्री श्री सिसोदिया


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) प्रदेश में कोरोनावायरस के कारण शालाएं बंद होने के कारण बच्चों को ताजा गर्म मध्यान भोजन का वितरण नहीं किया जा पा रहा था।  सुप्रीम कोर्ट द्वारा बच्चों को खाद्य पोषण देने के निर्देश एवं खाद्य सुरक्षा अधिनियम के प्रावधानों के अनुरूप प्रदेश के 63 लाख से अधिक बच्चों को खाद्य सुरक्षा भत्ता के रूप में सूखा राशन एवं खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है। जिसमें प्राथमिक शाला के बच्चों को 100 ग्राम गेहूं अथवा चावल 2 किलोग्राम तुवर दाल एवं 523 ग्राम सोया तेल विकासखंड स्तर पर प्रदाय किया जा रहा है। गेहूं चावल का प्रदाय स्थानीय स्तर पर उचित मूल्य की दुकान से स्व सहायता समूह द्वारा किया जा रहा है। जिससे 71 हजार से अधिक स्व सहायता समूह को 12.76 करोड़ की राशि और रोजगार के रूप में प्रदाय की जा रही है। ताकि स्व सहायता समूहों को कोरोना वायरस के कारण भोजन बंद होने से होने वाले आर्थिक नुकसान में मदद हो सके। इस आशय को लेकर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री सिसोदिया के कार्यालय से जारी पत्र के अनुसार बताया गया कि राशन वितरण के लिए सहायता समूह को ब्लॉक स्तर से शाला स्तर तक परिवहन एवं बच्चों को सूखा राशन घर-घर वितरण करने के लिए रु 6.40 प्रति किलोग्राम के मान से उनके बैंक खाते में सीधा भुगतान का प्रावधान पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया गया है। शाला स्तर पर बच्चों को सूखा राशन वितरण करने के दौरान वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी के माध्यम से मॉनिटरिंग की जा रही है ताकि सूखा राशन वितरण में किसी भी प्रकार की लापरवाही या अनियमितताएं नहीं हो तथा पूर्ण पारदर्शिता से कार्य संपन्न हो। मंत्री सिसोदिया ने इस कार्य की प्रशंसा करते हुए बताया कि कोरोना संकट में स्कूलों के बंद होने पर प्रदेश के 1.13 लाख स्कूलों के 63 लाख से अधिक बच्चों तक खाद सामग्री घर-घर पहुंचाई गई है। यह अभूतपूर्व कार्य है जिसके लिए वे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। उन्होंने कहा कि हमने भारत सरकार के लिए निर्देशों के तहत इसकी व्यवस्था की है।

राम टेकरी पहुंचे मंत्री


मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया रविवार को निर्माणाधीन श्रीराम टेकरी मंदिर निर्माण कार्य में चल रही प्रगति का अवलोकन करने पहुंचे। उनके साथ श्री राम टेकरी निर्माण समिति के सदस्य शैलेंद्र लुम्बा, विनीत सेठ, जगवीर चौहान, मुकेश भार्गव, राजकुमार रघुवंशी, श्रवण धाकड़, अरविंद गुप्ता आदि उपस्थित थे। बता दें श्री राम टेकरी मंदिर पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम भगवान की 120 फीट ऊंची प्रतिमा की स्थापना प्रस्तावित है। जिसके लिए पंचायत मंत्री श्री सिसोदिया विशेष रूप से प्रयासरत हैं। साथ ही  इस पूरी पहाड़ी को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने का प्रयास किया जा रहा है। जहां मनोरंजन पार्क, कैफेटेरिया के अलावा समीप के श्री हनुमान टेकरी से श्री राम टेकरी तक रोप वे का निर्माण भी किया जायेगा जो कि गुना के आसपास के जिलों में एक मात्र होगा।

Post a Comment

0 Comments