कंचनपुरा के सैकड़ों बीघा जंगल में जारी है कटाई, लामबंद ग्रामीण पहुंचे कलेक्टोरेट

जंगल की कटाई से एक दर्जन गांवों के हजारों मवेशियों के समक्ष खड़ा हुआ चराई का संकट



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) जिलेभर में लगातार जंगलों की कटाई के मामले सामने आ रहे हैं। स्वयं ग्रामवासी आगे आकर वन विभाग एवं जिला प्रशासन से शिकायत का रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद भी वन विभाग का अमला है कि कार्रवाई करने को तैयार नहीं। बुधवार को जंगल कटाई के संबंध में बमोरी विधानसभा के ग्राम पंचायत ख्यावदा के ग्राम कंचनपुरा के सैकड़ों ग्रामीणों ने कलेक्टोरेट पहुंचकर शिकायत की। ग्रामीणों ने ज्ञापन में कहा कि यहां कुछ लोगों ने 500 बीघा से अधिक जंगल को काट दिया है। जिसके चलते मवेशी चराने के लिए जंगल नहीं बचा है। जंगलों की लगातार होती कटाई के कारण जहां मवेशियों को चरने के लिए जंगल नहीं है वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों के समक्ष भी रोजी रोटी का संकट खड़ा हो रहा है। इस मौके पर ग्रामवासियों ने स्पष्ट शब्दों में कहा यदि वन विभाग और प्रशासन कार्यवाही नहीं करता है तो यहां वर्ग संघर्ष होने की संभावना है। ग्रामीणों के अनुसार इस जंगल में लगभग 12 गांवों के 5 हजार से अधिक मवेशी विचरण करने आते हैं। जंगल कटने से इन सभी मवेशियों को चराने का संकट खड़ा हो गया है। इस मौके पर भगवान लाल लोधा, गिर्राज लोधा, समरथ सिंह लोधा, लक्ष्मण सिंह लोधा, शिव सिंह लोधा, धर्म स्वरूप लोधा, जयनारायण लोधा, जितेंद्र लोधा, अमर सिंह लोधा, हरनारायण लोधा, गिर्राज सिंह लोधा, हनुमत सिंह लोधा, हुकमचंद लोधा, मदन लाल लोधा सहित अन्य ग्रामवासी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments