कंबल एवं राशन वितरण से हुआ मकर संक्रांति महोत्सव का शुभारंभ

अभावग्रस्त मानवता की सेवा ही परमधर्म - कैलाश मंथन



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) चिंतन मंच के तहत सप्त दिवसीय मकर संक्रांति महोत्सव का शुभारंभ अभावग्रस्तों को गरम कपड़े, कंबल वितरण, राशन वितरण आदि कार्यक्रम के साथ हुआ। गरीब बस्तियों, पिछड़े इलाकों एवं सड़कों पर जीवन काटने वाले अभावग्रस्त लोगों को सम्मानपूर्वक कंबल वितरण का शुभारंभ चिंतन मंच के संयोजक कैलाश मंथन ने किया। इस अवसर चिंतन हाउस में संपन्न वस्त्र, कंबल वितरण कार्यक्रम के दौरान हिउस प्रमुख कैलाश मंथन ने कहा कि पीडि़त मानवता की सेवा ही सच्चा धर्म है। सही मायने में अभावग्रस्तों की मदद करना ही साकार भगवान की सेवा है। श्री मंथन ने कहा कि सेवाभाव सच्चे मन से होना चाहिए। यही राष्ट्र की सर्वोपरि सेवा होगी। यहां आयोजित सप्त दिवसीय (11 से 17 जनवरी) मकर संक्रांति महोत्सव का शुभारंभ सादगीपूर्व तरीके से गरीब असहाय लोगों की मदद एवं गौवंश को हरा चारा खिलाकर किया गया। यह अभियान निरंतर जारी रहेगा।

Post a Comment

0 Comments