रबी फसलों के लिए अमृत बनकर गिरा मावठा


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) शहर सहित अंचलभर में सोमवार को सुबह से मौसम का बदला मिजाज देखने को मिला। इस दौरान गुना सहित अन्य जगह रिमझिम बारिश का दौर दोपहर से शुरू हुआ, जो देर शाम तक रूक-रूक कर चलता रहा। मौसम विभाग के अनुसार अगले  चौबीस घंटे तक इसी तरह का मौसम रहने का अनुमान है। बारिश के साथ ही कई स्थानों पर कोहरा भी नजर आ रहा है। कृषि विभाग के मुताबिक मावठा की बारिश से रबी फसलों को फायदा होगा। किसानों को बारिश से अतिरिक्त पानी की आपूर्ति हो जाएगी। जिन खेतों में अभी दूसरा पानी नहीं दिया है वहां सिंचाई की समस्या का समाधान हो जाएगा। कुछ स्थानों पर कोहरा होने से चना की फसल में इल्ली लगने की संभावना है। कृषि विभाग के अनुसार कोहरा से चना की फसल को बचाने के लिए किसानों को धुआं करना चाहिए।
बहरहाल रबी फसलों के लिए यह मावठा अमृत बनकर गिरा।  फिलहाल जिले में एक-दो दिनों तक इसी तरह मावठा की बारिश होने का सिस्टम बना हुआ है। वहीं बारिश होने के कारण ठंड बढ़ गई। इस दौरान अधिकतम तापमान 23 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 17 डिग्री रहा। इसके पूर्व साल के आखिरी दिनों में न्यूनतम तापमान 4 एवं 5 डिग्री पर आ गया था।  लेकिन नए साल में तापमान बढऩे लगा। सोमवार को हुई बारिश से पारा फिर से लुढ़कने लगा है। 

लहर चलने के आसार, सुबह कोहरा से ढंक रहा शहर


इस दौरान सुबह से ही हल्की बूंदाबांदी के बाद तेज ठंडी हवाओं ने मौसम को सर्द बना दिया। लोग सर्दी से बचने के लिए गर्म कपड़ों का सहारा लेते देखे गए। दिन में ही लोगों को ठंड का एहसास होने से आग जलाकर सर्दी को दूर करने का प्रयास करते नजर आए। किसानों को मावठे की बारिश का बेसब्री से इंतजार था। मावठे की बारिश तीन दिन होती है तो किसानों का सिंचाई पर खर्च होने वाला लाखों रुपये बच जाएगा। किसानों के अनुसार मावठे की बारिश फसलों के लिए अमृत समान है। क्षेत्र में तो हल्की बूंदाबांदी हुई है। यदि सही तरीके से बारिश होती है तो इससे फसलों को अवश्य लाभ होगा ।

Post a Comment

0 Comments