कोई भी पात्र हितग्राही आगंनबाड़ी की सेवाओं से वंचित न रहे - एस.डी.एम. श्री ताम्रवाल

नवजीवन अभियान की समीक्षा बैठक ले रहे थे एस.डी.एम.


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) कोई भी पात्र हितग्राही आगंनबाड़ी की सेवाओं से वंचित न रहे यह निर्देश अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं एस.डी.एम. राधौगढ़ अक्षय कुमार ताम्रवाल (आई.ए.एस.) ने शनिवार को नगर पालिका सभागृह  राधौगढ़ में आयोजित समीक्षा बैठक में महिला बाल विकास विभाग राधौगढ़ के परियोजना अधिकारी एवं पर्यवेक्षिकाओं को दिये। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं एस.डी.एम. राधौगढ़ श्री ताम्रवाल कलेक्टर कुमार पुरूषोत्‍तम के निर्देशन में संचालित नवजीवन अभियान की समीक्षा बैठक कर रहे थे। इस अवसर पर परियोजना अधिकारी विजय सिंह कोरी ने बताया कि नवजीवन अभियान अन्तर्गत विकासखंड राधौगढ़ में 240 कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन किया जाकर उन्हें नियमित रूप से प्रोटीन पावडर, दूध, केले एवं प्रोटीनयुक्त आहार व दवायें सबंधित क्षेत्र की आगंनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा अपने सामने बच्चे को दिया जाता है। जिससे वे कुपोषण के ग्रेड से सामान्य ग्रेड में आ जाएं। इस अभियान में स्वास्‍थ्‍य विभाग की आशा ,ए.एन.एम. के द्वारा बच्चों का स्वास्थय परीक्षण भी किया जा रहा है तथा आवश्‍यक होने पर कुपोषित बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्र राधौगढ़ भेजा जा रहा है। जिसकी निगरानी के लिये महिला बाल विकास के परियोजना अधिकारी एवं सेक्टर पर्यवेक्षक कुपोषित बच्चे के घर जाकर उनके परिजनों से चर्चा कर बच्चे के स्वास्‍थ्‍य के बारे में आवश्‍यक मार्गदर्शन दे रहे है। 
 अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं एस.डी.एम. राधौगढ़ श्री ताम्रवाल महिला बाल विकास के सी.डी.पी.ओ. के साथ अभी तक ग्राम कड़ैया, बरसत, बाल्याखेड़ा एवं राधौगढ़ शहर के वार्डो में भ्रमण कर कुपोषित बच्चों के घर गृह भेंट दे चुके है एवं इन बच्चों को दी गई दवाओं व प्रोटीनयुक्त आहार के सेवन की विधि की जानकारी बच्चों के परिजनों से प्राप्त कर नवजीवन अभियान के गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं। 
 सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में एस.डी.एम. अक्षय तामग्रवाल के द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग के सभी पर्यवेक्षकों से वन टू वन चर्चा की एवं उनके सेक्टर में संचालित विभागीय योजनाओं यथा लाड़ली लक्ष्मी योजना, प्रधानमंत्री मातृ वदंना योजना की समय सीमा में लक्ष्यपूर्ति के निर्देश दिये एवं आगंनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से बच्चों, गर्भवती शिशुवती महिलाओं को वितरित किये जा रहे पोषण आहार की गुणवत्ता के सबंध में चर्चा की। इस अवसर पर विभागीय पर्यवेक्षिकाओं के द्वारा श्री ताम्रवाल को अवगत कराया गया कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा बच्चे के जन्म के उपरांत लगभग एक माह बाद बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र दिया जाता है। इसी प्रकार पात्र महिला की नसबंदी का प्रमाण पत्र भी विलबं से स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किया जाता है। जिससे महिला बाल विकास विभाग की दो महत्वपूर्ण योजनाओं क्रमश: लाड़ली लक्ष्मी योजना, प्रधानमंत्री मातृ वदंना योजना से पात्र हितग्राहियों को समय पर लाभ दिलानें में विलबं होता है। एस.डी.एम श्री ताम्रवाल द्वारा इस सबंध में स्वास्‍थ्‍य विभाग के बी.एम.ओ. से चर्चा कर कठिनाई को दूर करनें हेतु आश्‍वासन दिया।  विकासखंड़ राधौगढ़ में निर्माणाधीन आगंनबाड़ी केन्द्रों की जानकारी परियोजना अधिकारी द्वारा बैठक में रखी गई जिसकी समीक्षा एस.डी.एम. श्री ताम्रवाल द्वारा की गई एवं इन भवनों के निर्माण की धीमी गति पर सी.ई.ओ. जनपर पंचायत राधौगढ़ से चर्चा करने की बात कही गई। 
 आयोजित बैठक में पर्यवेक्षिका प्रीति मौर्य, शालिनी श्रीवास्तव, संतोष विजयवर्गीय, चन्द्रकला शर्मा, वदंना दुबे, आशा पाराशर, मंजू राठौर एवं सुरभी कुशवाह तथा सविता भार्गव को श्री ताम्रवाल के द्वारा अपने-अपने मुख्यालय पर ही निवास करनें तथा उनके आगंनबाड़ी केन्द्रों का पर्यवेक्षण अनुमोदित टूर प्रोग्राम के अनुसार ही करने के सबंध में कड़े निर्देश दिये गये।

Post a Comment

0 Comments