महिला बाल विकास के नवजीवन ग्रुप में अश्लील फोटो डालने से कर्मचारियों में हड़कंप


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) चाचौड़ा ब्लॉक के महिला बाल विकास विभाग द्वारा बनाए गए नवजीवन व्हाट्सएप ग्रुप में अश्लील फोटो डालने का मामला सामने आया है। उक्त ग्रुप में स्थानीय अधिकारी कर्मचारी एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के रूप में पदस्थ महिलाओं को ग्रुप में  विशेष रूप से जोड़ा गया हैं। ग्रुप ब्लॉक के सीडीपीओ श्रवण कुमार नागले द्वारा ब्लॉक में विशेष कर कुपोषित बच्चों की निगरानी के लिए ग्रुप बनाया गया था जिसका मुख्य उद्देश्य व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से जिले के मुखिया से लेकर  अन्य अधिकारी भी सतत निगरानी के लिए जोडे गये थे। परन्तु स्थानीय सीडीपीओ श्रवण कुमार नागले द्वारा बनाए गए ग्रुप की सही तरह से निगरानी नहीं करने एवं अपने अधीनस्थ कर्मचारियों की शिकायत पर ध्यान ना देने के कारण ग्रुप में लगातार अश्लील पोस्ट डालने की खबरें पूर्व में भी प्राप्त हुई थी। ताजा मामलें में एक बार फिर अश्लील फोटो ग्रुप में पुनः प्रेषित किए जा रहे हैं।  इस और व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन और स्थानीय अधिकारियों का जरा भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है। महिला बाल विकास से जुड़ी महिलाओं द्वारा बताया गया कि पूर्व में भी ग्रुप पर अश्लील फोटो पोस्ट किए रहें है जिसकी शिकायत अधिकारियों से करने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई है। चूंकि अधिकारी ग्रुप से जुड़े हुए है इसलिए हम ग्रुप से लेफ्ट नहीं हुई।अब वर्तमान में पुनः वही रवैया ग्रुप में जारी है। इस तरह के मामले सामने आने पर कर्मचारी,महिलाएं बहुत परेशान हैं। ग्रुप की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता महिला द्वारा स्थानीय सीडीपीओ से जब इस बारे में बात कर शिकायत की गई तो उनके द्वारा जवाब देते हुए कहा कि यदि मैडम आपको व्हाट्सएप ग्रुप की इस पोस्ट से कोई दिक्कत हो तो पहले मुझे अवगत कराएं जब यह बात जिला परियोजना अधिकारी धीरेंद्र जादौन तक पहुंची तो उनके द्वारा ग्रुप के माध्यम से ही सीडीपीओ से कहा गया कि महिलाओं की समस्या को सीरियस होकर हल करें। हालांकि इस मामले की शिकायतकर्ता आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सीडीपीओ द्वारा ग्रुप से रिमूव कर दिया गया है। सीडीपीओ का कहना है कि हमने एफआईआर करा दी गई है जबकि थाना प्रभारी राकेश गुप्ता से एफआईआर के मामले में जानकारी चाही गई तो उन्होंने कहा कि अभी तक इस मामलें में कोई एफआईआर दर्ज नही कराई गई है।

Post a Comment

0 Comments