कुंभराज के बिरियाई गांव में आज पुलिस और आबकारी विभाग ने दबिश देकर किया हजारों लीटर लहान नष्ट

बिरियाई में सागर के डेरा पर चल रहा था बड़े पैमाने पर अवैध शराब बनाने का कारोबार


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले के कुंभराज थानांतर्गत ग्राम बिरयाई में पुलिस एवं आबकारी विभाग द्वारा संयुक्त रूप से अवैध शराब के खिलाफ बड़ी छापामार कार्रवाई की गई है। इस दौरान करीबन 10 हजार लीटर लहान नष्ट किया गया। दरअसल प्रदेश के मुरैना जिले के चर्चित शराब कांड को मद्देनजर रखते हुए जिले भर में अवैध कच्ची शराब को लेकर प्रशासन की लगातार मुहिम जारी है। शुक्रवार को दोनों विभागों ने ग्राम बिरयाई स्थित सागर के डेरा के खेतों पर छापामार कार्यवाही कर कच्ची शराब बनाने के लिए गुड से तैयार किया गया करीबन 10 हजार लीटर लहान नष्ट किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के कुम्भराज थाना प्रभारी एसआई राम शर्मा को ग्राम बिरयाई स्थित सागर के डेरा के पास एक खेत पर बड़े स्तर पर शराब बनाने का कारोबर चलने की सूचना मिली। कुम्भराज थाना प्रभारी द्वारा उक्त सूचना से अपने वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। अधिकारियों से निर्देश प्राप्त कर आबकारी विभाग और अपने थाने के साथ-साथ थाना चांचौड़ा, जामनेर तथा पुलिस लाईन के करीबन 60-70 फोर्स के साथ शुक्रवार तड़के मुखविर द्वारा बताये स्थान पर दविश दी गई। चूंकि खेतों के दूर-दूर तक खुली जगह होने से पुलिस की गाडिय़ां शराब कारोबारियों को दूर से ही दिख गई थी इस कारण वह पुलिस के पहुंचने से पहले ही मौके से भाग निकले। पुलिस को सागर के डेरों के पास स्थित नाले किनारे के एक खेत पर बने कुए के आसपास पानी की कई सारी बड़ी-बड़ी टंकियां दिखाई दीं जहां पास जाकर देखा तो करीबन 30-35 टंकियों में गुड़ से शराब बनाने के लिये तैयार किया गया जिनमें लहान भरा हुआ पाया गया। वहीं दो बड़ी-बड़ी भट्टियों के साथ जमीन में एक बड़ी पानी की टंकी भी बनी हुई थी। आवकारी विभाग की टीम द्वारा उक्त लहान का सेंपल लेकर सभी टंकियों को लुढ़काकर उनमें भरे हुए लहान को मौके पर ही नष्ट किया गया। जहां पर बनी भट्टियों व पानी की टंकी को भी नष्ट कर दिया गया। बहरहाल पुलिस एवं आवकारी विभाग की इस कार्यवाही से जिले के अवैध शराब कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है। कार्रवाई में थाना प्रभारी राम शर्मा, आबकारी उप निरीक्षक नीतेश पंवार के साथ आवकारी विभाग, थाना कुम्भराज, थाना चांचौड़ा, थाना जामनेर एवं पुलिस लाईन से गये फोर्स की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।


गुड एवं लकड़ी विक्रेताओं को देना होगी जानकारी


इधर कच्ची शराब बनाने में अक्सर गुड का उपयोग होने एवं भट्टी के लिए लकड़ी की आवश्यकता होने से एसपी राजेश कुमार सिंह द्वारा अपने अधीनस्थ सभी अफसरों को उनके अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में गुड का विक्रय करने वाले व्यापारियों व किसानों एवं लकड़ी के टाल वालों को हिदायतें देने के लिये निर्देशित किया गया है। आदेश में यदि उनसे कोई घरेलू उपयोग के अतिरिक्त अधिक मात्रा में गुड व लकड़ी खरीदता है तो उससे बिना कारण जाने गुड व लकडी न दें और यदि देते भी हैं तो इसकी जानकारी तत्काल पुलिस को दें। ताकि पुलिस द्वारा इसकी छानवीन की जा सके।

Post a Comment

0 Comments