राघौगढ़ में हारकर भी जीत मिलती है यहां की धरती को प्रणाम - कार्तिकेय

युवा संवाद सम्मेलन में पहुंचे सीएम के पुत्र


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) राघौगढ़ की धरती अद्भुत है, यहां हारकर भी जीत मिलती है। ऐसी पावन धरती को मैं प्रणाम करता हूं। व्यक्ति को आइस्क्रीम की तरह नहीं अपितु मोमबत्ती की मानिंद होना चाहिए, क्योंकि आइस्क्रीम बाहर निकालने पर पिघल जाती है और जो इसकी तरह होता है वह गुमराह करता है। जो व्यक्ति मोमबत्ती की तरह होता है वह पिघलता तो धीरे-धीरे है, लेकिन पूरे जहांन में उजाला करता है। यह बात मंगलवार को आवन क्रिकेट स्टेडियम में स्वामी विवेकानंद जी की 158वीं जयंती पर आयोजित युवा संवाद कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री के पुत्र कार्तिकेय चौहान ने अपने संबोधन में कही। कार्यक्रम का शुभारंम मुख्य अतिथि चौहान ने सरस्वती वंदना के उपरांत स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया। मुख्य अतिथि श्री चौहान ने राघौगढ़ सरस्वती विद्यालय की 21 कन्याओं की पूजा की और उनके चरण धोकर उन्हें टीका लगाकर चुन्नी भेंट की।

क्रिकेट टूर्नामेंट के विजेता, उपविजेता पुरुस्कृत


इस मौके पर आवन स्टेडियम में आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट का भी समापन हुआ। मुख्य अतिथि द्वारा विजेता और उप विजेता तथा तृतीय स्थान पर आई टीम को पुरस्कृत किया गया। विजेता को ट्राफी और 51 हजार भेंट किये गये। कार्यक्रम को भाजयुमों जिलाध्यक्ष सुशील दहीफले ने भी संबोधित किया और युवाओं को स्वामी विवेकानंद के जीवन से सीख लेने की प्रेरणा दी। इस मौके पर प्रदेश के पंचायती एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, मप्र बाल आयोग के सदस्य बृजेश चौहान, गुना विधायक गोपीलाल जाटव, पूर्व विधायक राजेन्द्रसिंह सलूजा, भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हरिसिंह यादव, अर्पित यादव, पूर्व विधायक चांचौड़ा ममता मीना के पुत्र आकाश मीना, जितेन्द्र राजखेड़ा मंचासीन रहे।

Post a Comment

0 Comments