श्रीशांतिनाथ महामण्डल विधान में अष्टकुमारी देवियों ने की स्वर्ण कलश और ध्वज की शुद्धि


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) नीचला बाजार स्थित शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर पर चल रहे  16 दिवसीय श्रीशांतिनाथ महामण्डल विधान में विभिन्न धार्मिक क्रियाएं संपन्न हुई। कलशारोहण ध्वजदंड स्थापना एवं विश्वशांति महायज्ञ आयोजन के तारतम्य में मंगलवार को आर्यिका पवित्रमती माताजी के ससंघ सान्निध्य में एवं विधानचार्य  मनोज लल्लन भैया जबलपुर के निर्देशन में प्रात: श्रीजी का अभिषेक, शांतिधारा, पूजन उपरांत विधान आरंभ हुआ। इस मौके पर विधान का पुण्यार्जन जिनेंद्र कुमार, राहुल अभिषेक झांझरी परिवार, प्रदीप कुमार, प्रांजल जैन वैद्य परिवार, राजेंद्र कुमार सौरभ जैन धरनावदा परिवार एवं योगेश मॉडल परिवार द्वारा उत्साह के साथ भक्ति की गई। कार्यक्रम सह संयोजक धर्मेन्द्र बज ने बताया कि बसंत पंचमी के अवसर पर ही मनोज लल्लन भैयाजी के निर्देशन में अष्टकुमारियों द्वारा शिखर पर चढऩे वाले स्वर्ण कलश एवं स्वर्ण ध्वज दण्ड की शुद्धि की क्रियाएं मंत्रोच्चारण के साथ सम्पन्न कराई गई। इस अवसर पर आर्यिका पवित्रमती माताजी ने अपने प्रवचनों में दान की महिमा दर्शाते हुए कहा कि दान कितनी ही छोटा हो, यदि विशुद्धिपूर्वक दिया गया हो तो वह सबसे बड़ा होता है। इस मौके पर पूनमचंद पाटनी, राजेंद्र टोंग्या, प्रकाश पाटौदी, देवेंद्र पांड्य, धर्मेन्द्र बज, दीपक जैन, पुनीत टोंग्या सहित कई श्रद्धालु उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments