उपज तुलाई में गड़बड़ी हुई तो केन्द्र प्रभारी एवं कम्प्यूटर ऑपरेटर होंगे जिम्मेदार- कलेक्टर

समय-सीमा बैठक में दिए अधिकारियों  को सख्त निर्देश



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) समर्थन मूल्या पर उपार्जन खरीदी कार्य निर्धारित केन्द्रों में 22 मार्च से प्रारंभ होगा। किसानों की उपज की त्रुटिपूर्णं तुलाई के लिए केन्द्र भारी एवं कम्प्यूटर ऑपरेटर व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे। उक्त निर्देश कलेक्टर कुमार पुरूषोत्तम ने समय सीमा की बैठक में दिए। तुलाई में गड़बड़ी नही हो और उपर्जान व्यवस्था निर्बाध तरीके से संपन हो। इस उद्देश्य से उन्होंने उप संचालक कृषि को उपार्जन केन्द्र प्रभारी, कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं नोडल अधिकारियों को प्रशिक्षण दिए जाने के निर्देश दिए। सीएम हेल्प लाईन के लंबित आवेदनों की समीक्षा के दौरान उन्होंने संबंधित कार्यालय प्रमुखों को निर्देशित किया कि 100 दिवस की लंबित शिकायतों के संतुष्टिपूर्णं निराकरण पर ध्यान केन्द्रित करें तथा शिकायतकर्ता से चर्चा एवं उनकी संतुष्टि उपरांत निराकरण सुनिश्चित करें। इस अवसर पर उन्होंने सीएमएचओ अधिकारी डॉ. पी बुनकर को कोविड वैक्सीनेशन हेतु निर्धारित टीकाकरण केन्द्रों का भ्रमण करने एवं लक्षित शत-प्रतिशत व्यक्तियों का टीकाकरण सुनिश्चित करने हेतु आवश्यक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने आदिवासियों के वनाधिकार के पट्टों के आवेदनों का सहानुभूतिपूर्वक एवं संवेदनशीलता के साथ करने तथा निर्माण विभागों द्वारा संबंधित ठेकेदारों से प्राप्त रायल्टी की राशि खनिज विभाग में शीघ्र जमा कराने के निर्देश दिए।
उन्होंने निर्देशित किया कि वे पंचायत स्तर पर चल रहे विभिन्न निर्माण कार्य, ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में पेयजल की उपलब्धता एवं ग्रीष्म ऋतु में आवश्यकतानुसार वैकल्पिक व्यवस्थार की कार्ययोजना एवं तैयारी, कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारियां एवं व्यवस्थाएं, आयुष्मान, कुपोषण, स्वच्छता एवं उपार्जन की तैयारियों की आगामी बुधवार को गुना में गुना अनुविभाग, गुरूवार को बमोरी अनुविभाग की बमोरी में तथा शुक्रवार को चांचौड़ा अनुविभाग की चांचौडा में समीक्षा करेंगे। उन्होंने निर्देशित किया कि आयोजित उक्त समीक्षा बैठकों में संबंधित क्षेत्रों के पटवारी, सचिव, सुपरवाईजर, विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी सहित संबंधित विभागों के जिला अधिकारी मौजूद रहें। 
बैठक में उप संचालक कृषि एवं किसान कल्याण अशोक कुमार उपाध्याय ने बताया कि समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्य खरीदी केन्द्रों  में 22 मार्च से 15 मई तक प्रात: 8 बजे से शाम 8 बजे तक सोमवार से शुक्रवार तक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चना का समर्थन मूल्य 5100 रुपए प्रति क्विंटल तथा सरसों का समर्थन मूल्यक 4650 रुपए प्रति क्विंटल शासन द्वारा घोषित किया गया है। कृषक तोल पर्ची शाम 6 बजे तक जारी की जाएगी। खरीदी केन्द्रों में जिन कृषकों को एसएमएस किए गए हैं उन्हीं कृषकों के उपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जाएगी। उन्होंने बताया कि उपार्जित तौल की भर्ती 50 कि.ग्रा. के बैग में होगी। खरीदी हेतु मप्र राज्य सहकारी विपणन संघ मर्यादित (मार्कफेड) उपार्जन हेतु उपार्जन एजेंसी निर्धारित है।

Post a Comment

0 Comments