आयुष्‍मान कार्ड बनाने में गुना जिला प्रदेश में तीसरे पायदान पर

कलेक्‍टर ने शीघ्र लक्ष्‍यों की पूर्ति करने दिए निर्देश



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) प्रदेश में पात्र हितग्राहियों के आयुष्‍मान कार्ड बनाने में जिला गुना तीसरे स्‍थान पर है। अब तक 8 लाख आयुष्‍मान कार्ड बनाए जाने के लक्ष्‍य के विरूद्ध 5 लाख पात्र हितग्राहियों के कार्ड  बनाए जा चुके हैं, जो कुल लक्ष्‍य का 60 प्रतिशत है। लक्ष्‍य की शत-प्रतिशत पूर्ति 10 अप्रैल 2021 तक संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करें। कलेक्‍टर कुमार पुरूषोत्‍तम द्वारा यह निर्देश आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में हितग्राहियों के आयुष्‍मान कार्ड बनाए जाने की अद्यतन स्थिति तथा सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत शत-प्रतिशत हितग्राहियों को प्रत्‍येक माह खाद्यान्‍न वितरण व्‍यवस्‍था सुनिश्चित करने आयोजित समीक्षा बैठक सह प्रशिक्षण सत्र में दिए गए।
उन्‍होंने कहा कि आयुष्‍मान कार्ड गरीबों के लिए स्‍वास्‍थ्‍य की दृष्टि से विपत्ति के समय 5 लाख रूपये के उपचार की सुरक्षा कवच का काम करता है। यह गरीबों को बीमारी के समय बहुत बड़ी राहत देता है। बीमारी के समय उपचार के लिए गरीबों को राशि की व्‍यवस्‍था करना बहुत मुश्किल होता है और ऐसे वक्‍त में आयुष्‍मान कार्ड वरदान साबित होगा। आयुष्मान कार्ड बनाने में हितग्राही को कोई शुल्क अथवा राशि भी नहीं देनी पड़ती है। संबंधित अमला संवेदनशीलता और गंभीरता के साथ तीव्र गति से लक्ष्यों की पूर्ति समय सीमा में करें। उन्होंने कहा कि गुना नगर पालिका परिषद को लगभग 30,000 आयुष्मान कार्ड बनाए जाने का लक्ष्य निर्धारित है। पात्र हितग्राही अपने आयुष्मान कार्ड बनवाए जाने हेतु नगर पालिका से संपर्क करें और अपना आयुष्मान कार्ड बनवाएं। यह पूर्णत: नि:शुल्क है। आयुष्मान कार्ड बनाए जाने की फीस सरकार स्वयं उठाती है।
आयोजित बैठक के पूर्व जिले के समस्‍त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को एईपीडीएस पोर्टल पर उचित मूल्य दुकानों की मॉनिटरिंग करने पावर पॉइंट पर टूल्स बताए गए। मॉनिटरिंग करने की प्रक्रिया समझाई गई। इस दौरान नवीन राशन कार्ड सेल, अन्‍न उत्सव, दुकानवार राशन वितरण, एवं माह में उचित मूल्‍य दुकान कितने दिन खुली, कितने दिन बंद रही तथा कितने उपभोक्‍ताओं को राशन वितरण हुआ तथा उचित मूल्‍य दुकान के स्‍टाक की उपलब्‍धता आदि की सतत मॉनिटरिंग करने समझाईश दी गयी।
इस अवसर पर कलेक्‍टर पुरूषोत्‍तम ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली की मॉनिटरिंग के लिए रोजाना संबंधित अधिकारी संबंधित पोर्टल पर नजर रखें ओर वितरण व्‍यवस्‍था दुरूस्‍त रखें। उन्‍होंने कहा कि प्रत्‍येक माह सार्वजनिक वितरण प्रणाली के शत-प्रतिशत उपभोक्‍ता अपने राशन का उठाव करें, इस हेतु सर्वसंबंधित गंभीर रहें।
उन्‍होंने निर्देशित किया कि अन्‍न उत्‍सव प्रत्‍येक माह 7, 8 एवं 9 तारीख को आयोजित किया जाएगा। उक्‍त तीन दिनों में 60 प्रतिशत से अधिक उपभोक्‍ता अपनी-अपनी पात्रतानुसार राशन का उठाव करें, के लिए सर्वसंबंधित अधिकारी गंभीर रहें। उन्‍होंने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली की सफलता की आदर्श स्थिति तब होगी जब कोई भी पात्र हितग्राही राशन अथवा पात्रता पर्ची के लिए शिकायत लेकर नही आए।
इस अवसर पर उन्‍होंने जिले में ई-उपार्जन की तैयारियों एवं व्‍यवस्‍थाओं की समीक्षा की तथा निर्देशित किया कि संबंधित अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत खरीदी केन्‍द्रों का सतत भ्रमण करें, तुलाई, परिवहन और भुगतान पर नजर रखें ताकि किसी प्रकार समस्‍या अथवा शिकायतें नही आएं।
आयोजित बैठक में मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  निलेश परीख, संयुक्‍त कलेक्‍टर, जिले के समस्‍त अनुविभागीय अधिकारी राजस्‍व, जनपदों के मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी, उप संचालक कृषि, नागरिक आपूर्ति निगम एवं जिला आपूर्ति अधिकारी सहित कनिष्‍ट आपूर्ति अधिकारी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments