कुख्यात अंतर्राज्यीय स्मैक तस्कर सागर मीणा गुना कोतवाली पुलिस ने किया गिरफ्तार

आरोपी के कब्जे से 70,000 रूपये की 6 ग्राम स्मैक एवं नगदी 34,800/-रूपये सहित तस्करी में प्रयुक्त स्विफ्ट डिजायर कार जप्त



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा के निर्देशानुसार जिले में नशे के विरूद्ध चलाये जा रहे विषेष अभियान के क्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  टी.एस. बघेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक  बी.पी. तिवारी के मार्गदर्शन में गुना कोतवाली पुलिस द्वारा स्मैक की सप्लाई करने वाले कुख्यात तस्कर सागर मीणा को पकड़ने में सफलता हासिल की गई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुना कोतवाली टीआई उमेश मिश्रा को मुखविर से सूचना प्राप्त हुई थी कि राजस्थान का कुख्यात स्मैक तस्कर सागर मीणा एक सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार से गुना आया है और जो अभी प्रताप छात्रावास में स्मैक बेचने वाला है। उक्त सूचना पर कोतवाली टीआई उमेश मिश्रा द्वारा तुरंत एक्शन लेते हुये उक्त स्मैक तस्कर को पकड़ने के लिये उपनिरीक्षक अमित अग्रवाल के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन कर तत्काल रवाना किया गया।
  मुखबिर की सूचना के मुताबिक स्मैक सप्लायर को पकड़ने हेतु पुलिस टीम द्वारा प्रताप छात्रावास के आसपास के इलाके की घेराबंदी की गई तो उन्हे एक सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर कार संदिग्ध अवस्था में प्रताप छात्रावास के आसपास घूमती हुई दिखाई दी। जिसे पुलिस द्वारा रोककर उसके चालक का नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम सागर मीणा पुत्र देव किशन मीणा निवासी ग्राम ढीमरपुरा, जिला बारां राजस्थान का होना बताया। जिसकी तलाशी लेने पर उसके पास 6 ग्राम स्मैक कीमत करीब 70,000/-रूपये एवं नगदी 34,800/-रूपये मिले। पुलिस द्वारा आरोपी के पास से मिली स्मैक एवं नगदी सहित स्मैक सप्लाई में प्रयोग की जा रही सफेद रंग की स्विफ्ट डिजायर गाड़ी को जप्त कर आरोपी सागर मीणा को गिरफ्तार किया एवं जिसके विरुद्ध थाना कोतवाली में अपराध क्रमांक 242/21 धारा 8/21 एनडीपीएस एक्ट का कायम कर विवेचना में लिया गया है। उक्त गिरफ्तार स्मैक सप्लायर सागर मीणा लंबे समय से गुना पुलिस के रडार पर था, जिसे आज न्यायालय पेश किया गया जहां से उसे पुलिस रिमाण्ड पर भेज दिया है, पुलिस द्वारा आरोपी से उसके स्मैक के नेटवर्क के संबंध में पूछताछ की जा रही है।  
  उक्त संपूर्ण कार्यवाही में कोतवाली टीआई उमेश मिश्रा, उप निरीक्षक अमित अग्रवाल, उप निरीक्षक श्रीराम तिवारी, प्रधान आरक्षक प्रेम सुधा राणा, आरक्षक भानु रघुवंशी, आरक्षक विनीत भारद्वाज एवं सैनिक रोहित रघुवंशी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

Post a Comment

0 Comments